एक दिन में 15,372 नए मामले, 423 मरीजों की मौत

देश में कोरोना वायरस (Coronavirus in India) संक्रमण के सबसे अधिक 15,372 नए मामले सामने आए हैं। इसके साथ ही कुल संक्रमितों की संख्या 4,26,397 हो गई। इसके अलावा रविवार को कोरोना से सबसे अधिक 423 लोगों की मौत हुई।


सांकेतिक तस्वीर

   


देश में अब भयावह रूप दिखाने लगा है कोरोना वायरस का संक्रमण


देश में एक दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के सबसे अधिक 15,372 नए मामले आए सामने


कुल संक्रमितों की संख्या 4,26,397, रविवार को कोरोना से सबसे अधिक 423 लोगों की मौत


नई दिल्ली
कोरोना वायरस (Coronavirus in India) का संक्रमण देश में अब भयावह रूप दिखाने लगा है। देश में एक दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के सबसे अधिक 15,372 नए मामले सामने आए हैं। इसके साथ ही कुल संक्रमितों की संख्या 4,26,397 हो गई। इसके अलावा रविवार को कोरोना से सबसे अधिक 423 लोगों की मौत हुई। अब तक सबसे ज्यादा मौत 16 जून को 2003 हुईं थी, जिसमें पुराने आंकड़ों को भी शामिल किया गया था।
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक भारत में आठ दिन पहले संक्रमितों की संख्या तीन लाख थी, जो अब बढ़कर 4,10,461 हो गई है। देश में संक्रमण के मामले 100 से एक लाख तक पहुंचने में 64 दिन लगे। अगले 15 दिन में इनकी संख्या दो लाख हो गई थी। उसके अगले दस दिन में कुल मामलों की तादाद तीन लाख के पार हो गई थी। मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक 306 और लोगों की मौत के बाद कुल मृतक संख्या बढ़कर 13,254 हो गई है। हालांकि, Covid-19 के मरीजों का रिकवरी रेट करीब 55.48 प्रतिशत है। अब तक बीमारी को मात देने वाले मरीजों की संख्या 2,27,755 है, जबकि 1,69,451 मरीजों का इलाज चल रहा है।

10 दिन से संक्रमण के रोजाना 10,000 से अधिक मामले

देश में लगातार 10 दिन से संक्रमण के रोजाना 10,000 से अधिक मामले सामने आ रहे हैं। देश में एक जून से 21 जून तक संक्रमण के 2,19,926 मामले बढ़े हैं। संक्रमण के मामले जिन पांच राज्यों में सबसे तेजी से बढ़े हैं, उनमें महाराष्ट्र, तमिलनाडु, दिल्ली, गुजरात और उत्तर प्रदेश शामिल हैं। तमिलनाडु (2,532), केरल (133) और ओडिशा (304), उन राज्यों में शामिल हैं जहां रविवार को रेकॉर्ड संख्या में नए मामले सामने आए। बता दें कि देश में पहला मामला 30 जनवरी को केरल में सामने आया था।


संक्रमण के मामले बढ़ने पर जताई चिंता

हार्वर्ड ग्लोबल हेल्थ इंस्टीट्यूट के निदेशक डॉ. आशीष झा ने भारत में संक्रमण के मामले इस तेज गति से बढ़ने पर चिंता जाहिर की है। उन्होंने कहा कि बिहार और उत्तर प्रदेश जैसे विशाल आबादी वाले राज्य जब Covid-19 की बुरी तरह से चपेट में आएंगे तो देश में संक्रमण और इससे मरने वाले लोगों की संख्या में 'भारी वृद्धि' दिख सकती है। उन्होंने कहा कि इसके लिए हमें तैयार होने की जरूरत है। उन्होंने न्यूयार्क में पीटीआई को दिए एक ईमेल इंटरव्यू में कहा कि अभी मैं इस बात को लेकर चिंतित हूं कि मामले बढ़ रहे हैं। भारत का जनसंख्या घनत्व इसका एक बड़ा कारण है और हमने मुंबई, दिल्ली और चेन्नई जैसे महानगरों में संक्रमण को तेजी से फैलते देखा है। उन्होंने कहा कि लगता है कि आने वाले हफ्तों और महीनों में संक्रमण और इससे मरने वाले लोगों की संख्या में वृद्धि जारी रहेगी। उन्होंने कहा कि भारत में मामलों का बढ़ना बहुत चिंताजनक है। उन्होंने इस बात का भी जिक्र किया कि जांच बढ़ने पर भारत में मामलों की संख्या सुझाए गए आंकड़ों से अधिक हो सकती है।

Post a Comment

0 Comments