लॉकडाउन में शादी: 35 जोड़ों ने अपनाया ये तरीका, बिना खर्च किए हो गई शादी



लॉकडाउन में शादी: 35 जोड़ों ने अपनाया ये तरीका, बिना खर्च किए हो गई शादी

 

जबलपुर। लॉकडाउन के दौरान कलेक्ट्रेट स्थित विवाह अधिकारी कार्यालय में रुकी शादियों में तेजी आने लगी है। मई से अब तक करीब 35 से अधिक जोड़ा परिणय सूत्र में बंध चुके हैं। इसमें कुछ आवेदन तो मार्च में दिए गए थे, लेकिन लॉकडाउन में दूसरी गतिविधियों पर पाबंदी की तरह शादी की प्रक्रिया भी रुक गई थी। अब पुराने एवं नए आवेदनों पर निपटारा किया जा रहा है। इसलिए तय दिनों में वर और वधु के अलावा उनके परिजन और मित्रों की भीड़ कोर्ट के बाहर रहने लगी है।

लॉकडाउन के दौरान के पेंडिंग आवेदन भी निपटाए
कोर्ट मैरिज : एक माह में परिणय सूत्र में बंधे 35 जोड़े

एक-दूसरे का जीवन साथी बनने के लिए विवाह अधिकारी कार्यालय में आवेदनों की संख्या बढऩे लगी है। रोजाना दो से चार आवेदन इसके लिए आ रहे हैं। मई से लेकर जून तक करीब 50 से ज्यादा आवेदन आ चुके हैं, इनमें करीब 35 वर एवं वधु को विवाह का प्रमाण पत्र मिल चुका है। इनमें मई माह में करीब चार शादियां हुईं तो 27 जून की स्थिति में करीब 30 जोड़ों को विवाह का प्रमाण पत्र मिला। आने वाले दिनों में यह संख्या तेजी से बढ़ सकती है। क्योंकि शहर के अलावा बाहर से भी जोड़ा विवाह पंजीयन के लिए विवाह अधिकारी के समक्ष आवेदन करते हैं।

 



कई लोगों आगे बढ़ाई तिथि
अभी सीमित रेलगाडिय़ों का परिचालन किया जा रहा है। इसलिए बाहर से आने वाले लोग यहां नहीं आ पा रहे हैं। ऐसे में कई लोगों ने कोर्ट के माध्यम से अपनी शादी की तिथि को आगे बढ़ा दिया है। विवाह अधिकारी कार्यालय में कानून के तहत विवाह कराया जाता है। प्रशासन इसके लिए प्रमाण पत्र भी जारी करता है। यदि वर या वधु विदेश में हैं तो वहां की नागरिकता या वीजा तथा पासपोर्ट के लिए भी प्रशासन के विवाह प्रमाण पत्र को तवज्जो मिलती है।

विवाह के लिए आए आवेदनों का निपटारा किया जा रहा है। लॉकडाउन में यह काम बंद था। कुछ समय पहले फिर विवाह शुरू हुए हैं।
- वीपी द्विवेदी, अपर कलेक्टर एवं विवाह अधिकारी

Post a Comment

0 Comments