कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की पीएम मोदी से अपील, 3 महीने और फ्री में बांटा जाए खाद्यान्न

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पीएम मोदी को पत्र लिखा है। उन्होंने पीएम से गुजारिश की है कि मुफ्त खाद्यान्न योजना की अवधि को और बढ़ाया जाए। कांग्रेस अध्यक्ष ने इसे तीन महीने तक और बढ़ाने की मांग की है।


   


नई दिल्ली
कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने पीएम मोदी (PM Modi) को पत्र लिखा है। उन्होंने अपने पत्र में मांग की है कि सरकार मुफ्त खाद्यान्न के प्रावधान को तीन महीने की अवधि के लिए बढ़ा दे। दरअसल, लॉकडाउन के बाद सरकार ने मुफ्त में खाद्यान्न वितरण की घोषणा की थी, जिससे कोई भी नागरिक पैसे के अभाव में भूखा न रहे। इसकी अवधि समाप्त होने वाली है, जिसके बाद सोनिया गांधी ने इसको और बढ़ाने की मांग की है।

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से आग्रह किया कि कोरोना महामारी के संकट एवं सख्त लॉकडाउन के कारण पैदा हुए हालात के मद्देनजर सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) के तहत गरीबों को मुफ्त अनाज देने की मियाद अगले तीन महीने के लिए बढ़ाई जाए। प्रधानमंत्री को लिखे पत्र में उन्होंने फिर से इस मांग पर जोर दिया कि उन गरीब परिवारों को अस्थायी राशन कार्ड मुहैया कराए जाएं जो पीडीएस योजना से बाहर हैं।

सोनिया ने कहा, ‘तीन महीने के सख्त लॉकडाउन के कारण करोड़ों भारतीय नागरिकों के गरीबी की गिरफ्त में आ जाने का खतरा है। इसके विपरीत प्रभाव के कारण शहरी और ग्रामीण गरीबों के लिए खाद्य सुरक्षा का संकट पैदा हो गया है।’ उनके मुताबिक सरकार ने कोरोना संकट की शुरुआत के बाद कहा था कि खाद्य सुरक्षा कानून के तहत अप्रैल-जून की अवधि के दौरान हर महीने प्रति व्यक्ति पांच किलोग्राम अनाज मुफ्त दिया जाएगा। किसी केंद्रीय अथवा राज्य पीडीएस योजना के तहत कवर नहीं होने वाले प्रवासी श्रमिकों को भी मई एवं जून में भी पांच-पांच किलोग्राम अनाज देने की घोषणा की गई थी।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘केंद्र सरकार को पीडीएस के तहत मुफ्त अनाज देने की अवधि को अगले तीन महीनों (जुलाई-सितंबर) के लिए बढ़ाने पर विचार करना चाहिए। कई राज्यों ने भी यह आग्रह किया है।’ उन्होंने उम्मीद जताई कि केंद्र सरकार उनकी मांग पर जल्द से जल्द विचार कर निर्णय लेगी।



Post a Comment

0 Comments