भारतीय क्रिकेटर ने कहा- सुशांत सिंह राजपूत जैसी ही है मेरी भी हालत, लेकिन मैं हार नहीं मानूंगा



भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज अशोक डिंडा (36) ने अपने जीवन के संघर्ष को याद करते हुए एक बड़ी बात कही है। अशोक डिंडा भारतीय क्रिकेट टीम की ओर से खेलने का अधिक अवसर प्राप्त नहीं हुआ। गेंदबाज डिंडा को बीते साल रणजी ट्रॉफी के दौरान अनुशासनात्मक कारणों के चलते उन्हें टीम से बाहर कर दिया गया। इस दौरान वो न सिर्फ रणजी ट्रॉफी से बाहर हुए बल्कि बंगाल क्रिकेट की राजनीति का भी शिकार हुए।



इस सीजन में एक नई टीम के साथ वापसी करेंगे डिंडा
इन सब के बाद भी उन्होंने हार नहीं मानी और अब उनका कहना है कि वो इस सीजन में एक नई टीम के साथ वापसी करने जा रहे हैं। बंगाल की ओर से खेले जाने वाले घरेलू क्रिकेट में सबसे अधिक विकेट लेने वालों में डिंडा का नाम दूसरे नंबर पर आता है। ऐसे डिंडा को रणजी से बाहर निकाले जाने की सबसे बड़ी वजह मैच के दौरान रणजी टीम के कोच राणादेब बोस के साथ हुई बहस है जिस कारण उन्हें टीम से बाहर निकाल दिया गया था।


जल्द ही एनओसी हेतु आवेदन पत्र देंगे
अब इस पूरे मामले पर अशोक डिंडा का कहना है कि उनकी कुछ टीमों के साथ बात चल रही है। वो जल्द ही एनओसी हेतु आवेदन पत्र देंगे। इस बीच उन्होंने बंगाल टीम का हिस्सा न बनने की बात भी कही। हाल ही में फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत द्वारा की गई आत्महत्या का जिक्र करते हुए अशोक डिंडा ने कहा सभी ने देखा कि सुशांत सिंह किस दौर से गुजरे थे। आज के समय में ये हाल सिर्फ फिल्मी दुनिया का ही नहीं है सभी जगह यही हाल है, लेकिन मैं मानसिर तौर पर मजबूत हूं और किसी भी कारण से टूट नहीं सकता हूं।


डिंडा ने 13 वनडे और 9 टी 20 मैच अब तक खेले हैं
उन्होंने भारत के लिए 13 वनडे और 9 टी 20 मैच अब तक खेले हैं। डिंडा ने कहा कि अगले सीजन में किस टीम की तरफ से खेलूंगा इसके बारे में अभी मैंने कोई निर्णय नहीं लिया है, लेकिन मैं किसी अन्य राज्य की ओर से खेलूंगा।


Post a Comment

0 Comments