TikTok ने कहा, कंपनी ने चीनी सरकार के साथ साझा नहीं की कोई भी जानकारी

सोमवार देर शाम को मोदी सरकार ने चीन के 59 ऐप को बैन (59 chinese app ban) करने का फैसला किया। इसमें बेहद लोकप्रिय ऐप टिकटॉक (TikTok) भी है। कंपनी ने कहा है कि उसने चीन की सरकार को कोई भी जानकारी नहीं दी है।


  


सरकार ने कुल 59 चीनी ऐप को बैन किया है


टिक टॉक ने कहा कि उसे संबंधित सरकारी पक्षों से मिलने और स्पष्टीकरण देने के लिये बुलाया गया था


टिक टॉक ने बताया कि एप इस्तेमाल करने वाले किसी भी भारतीय की जानकारी चीन सहित किसी भी विदेशी सरकार के साथ साझा नहीं की गई है


बेंगलुरु
चीन के ऐप टिकटॉक ने कहा है कि ऐप को बंद करने के सरकार के आदेश के अनुपालन की प्रक्रिया की जा रही है, जिसके तहत सरकार ने कुल 59 चीनी ऐप को बैन (59 chinese app ban) किया है। टिक टॉक (TikTok) ने कहा कि उसे संबंधित सरकारी पक्षों से मिलने और स्पष्टीकरण देने के लिये बुलाया गया था, जिसमें उसने बताया कि एप इस्तेमाल करने वाले किसी भी भारतीय की जानकारी चीन सहित किसी भी विदेशी सरकार के साथ साझा नहीं की गई है।
टिकटॉक इंडिया के प्रमुख निखिल गांधी ने कहा- 'टिकटॉक सभी डेटा प्राइवेसी और सिक्योरिटी के नियम भारतीय कानून के तहत फॉलो करती है। कंपनी ने भारत के किसी भी यूजर का डेटा चीन की सरकार या फिर किसी अन्य विदेशी सरकार के साथ साझा नहीं किया है।'

बता दें कि सोमवार को मोदी सरकार ने 59 चीनी मोबाइल ऐप को बंद कर दिया, जिसमें टिकटॉक, हेलो और वीचैट जैसे सोशल मीडिया ऐप भी हैं। सरकार ने ये फैसला इसलिए लिया क्योंकि भारत की राष्ट्रीय सुरक्षा को चीन के इन ऐप्लिकेशन से खतरा था। गूगल और ऐप स्टोर से बाइटडांस के दो लोकप्रिय ऐप टिकटॉक और हेलो को हटा दिया गया है।

Post a Comment

0 Comments