कोरोना का कहर / महाराष्ट्र में लगातार तीसरे दिन मिले 5000 से ज्यादा संक्रमित; राज्य में मरीजों की संख्या 1.69 लाख के पार; राज्य में 31 जुलाई तक लॉकडाउन बढ़ा



मुंबई के मलाड इलाके में एक घर पर जांच करने के लिए पहुंचे स्वास्थ्यकर्मी। मलाड इलाका मुंबई का नया हॉटस्पॉट बन चुका है।


राज्य में कोरोना से जान गंवाने वालों का आंकड़ा बढ़कर 7,429 हो गया है


बीएमसी के अनुसार, मुंबई में 75,047 में से 43,154 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं


मुंबई. महाराष्ट्र में लगातार तीसरे दिन 5 हजार से अधिक मरीज मिले हैं। सोमवार को 5257 नए मरीज मिले, जबकि 181 लोगों की मौत हो गई। इससे पहले रविवार को 54 सौ और शनिवार को 53 सौ से ज्यादा मरीज मिले थे। राज्य में मरीजों की संख्या बढ़कर 1,69,883 पहुंच गई है। राज्य में लॉकडाउन को 31 जुलाई तक बढ़ा दिया गया है। राज्य के चीफ सेक्रटरी अजॉय मेहता की तरफ से लॉकडाउन बढ़ाने का आदेश जारी किया गया है। इस आदेश में कहा गया है कि राज्य में कोरोना वायरस के फैलने का खतरा लगातार बना हुआ है। इसलिए वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए जरूरी उपाय के तहत ये कदम उठाया जा रहा है।

'मिशन बिगेन अगेन' की गाइड लाइन लागू होंगी

मिशन बिगिन अगेन के तहत राज्य सरकार के सभी विभागों को पहले जारी की गई गाइडलाइंस का सख्ती से पालने करने के निर्देश दिए गए हैं। इस लॉकडाउन में भी पहले की तरह ही अतिआवश्यक वस्तुओं की दुकानें जैसे दूध, सब्जी और दवाइयां समय से खुलेंगी। साथ ही, ऑड-इवन डे में दूसरी दुकानों को भी खोला जा सकता है। इसके साथ ही दफ्तरों में सीमित संख्या में कर्मचारियों की उपस्थिति होगी।

मुंबई में 75 हजार के पार पहुंची संक्रमितों की संख्या
मुंबई में कोरोना के 1,300 नए केस मिले। यहां मरीजों की संख्या 75 हजार को पार कर गई है। बीएमसी के अनुसार, 75,047 में से 43,154 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। रविवार को 823 मरीजों को स्वस्थ होने पर घर भेज दिया गया। कोरोना से 87 मरीजों की मौत भी हुई। इनमें 55 पुरुष और 32 महिलाएं थीं। अब तक कुल 4,368 लोगों की मौत हो चुकी है।

अनलॉक के बीच अब मुंबई में बीएमसी की ओर से सड़कों को सैनिटाइज्ड करने का काम किया जा रहा है। 

लॉकडाउन की शर्तें

मास्क पहनना अनिवार्य, दो गज की दूरी (सोशल डिस्टेंसिंग) बनाए रखना जरूरी, बड़ी भीड़ जुटाने पर प्रतिबंध, 50 मेहमानों के साथ शादी का कार्यक्रम, अंतिम संस्कार में 50 से ज्यादा लोग नहीं जुटेंगे। सार्वजनिक जगहों पर थूकने पर लगेगा जुर्माना।

कार्यस्थल के लिए निर्देश

जितना संभव हो सके उतना घर से काम (वर्क फ्रॉम होम), दफ्तर में अलग-अलग शिफ्ट में काम, कर्मचारियों की स्क्रीनिंग और साफ-सफाई का पूरा ख्याल, दफ्तर का बार-बार सैनिटाइजेशन करना अनिवार्य होगा।

पहले की तरह खुलेंगी यहां दुकानें
मुंबई, पुणे, सोलापुर, औरंगाबाद, मालेगांव, नासिक, धुले, जलगांव, अकोला, अमरावती, नागपुर जैसे शहरों में कुछ प्रतिबंधों के साथ इन गतिविधियों को छूट रहेगी। जरूरी सामान की दुकानें पूर्व के आदेश के मुताबिक चलेंगी। गैर जरूरी दुकानें जैसे कि मार्केट प्लेस और मॉल्स 9-5 तक खुलेंगे। ई-कॉमर्स, खाने की होम डिलिवरी, निर्माण स्थल (सरकारी और निजी) को छूट रहेगी।

लॉकडाउन जारी रहेगा, सुविधाएं धीरे-धीरे बढ़ेंगी: उद्धव
राज्य में 30 जून के बाद भी लॉकडाउन जारी रहेगा। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने रविवार को कहा कि लॉकडाउन को एकदम खत्म नहीं किया जाएगा, लेकिन धीरे-धीरे सुविधाएं बढ़ाई जाएंगी। मुख्यमंत्री ने कहा- केवल आर्थिक गतिविधियों को गति देने के लिए महाराष्ट्र में मिशन बिगिन अगेन शुरू करना पड़ा, लेकिन कोरोना का संकट अभी टला नहीं है। कोई इस भ्रम में न रहे कि 30 जून के बाद लॉकडाउन खत्म हो जाएगा और सारे कामकाज पहले की तरह शुरू हो जाएंगे।

मुंबई के अप्पा पाड़ा इलाके में मास स्क्रीनिंग के लिए पहुंचे स्वास्थ्यकर्मी। यहां कोरोना के हर दिन 20 से ज्यादा मामल सामने आ रहे हैं।

लोगों पर निर्भर है आगे का लॉकडाउन
सीएम ने चेतावनी भी दी कि अगर कोरोना के केस बढ़ेंगे, तो कुछ इलाकों में फिर से कड़ा लॉकडाउन लागू करना पड़ेगा। अब लॉकडाउन जारी रखना या हटाया जाना- लोगों पर निर्भर है।

80 प्रतिशत लोगों में कोरोना के लक्षण नहीं
मुख्यमंत्री ने कहा- आज भी 80 प्रतिशत लोगों में कोरोना के कोई लक्षण नहीं हैं। इसका मतलब यह भी नहीं समझा जा सकता कि वे संक्रमित नहीं हैं। इसलिए जब तक बहुत जरूरी न हो, घरों से बाहर न निकलें। मास्क और सैनिटाइजर का इस्तेमाल जरूर करें।

मुंबईकरों को अपने घर से 2 किलोमीटर के दायरे में ही बाल कटाने, व्यायाम करने और खरीदारी जैसे काम निपटने होंगे।

Post a Comment

0 Comments