जानें क्या है गरीब कल्याण अन्न योजना?

लॉकडाउन की घोषणा 25 मार्च को की गई थी। उसके अगले दिन 26 मार्च को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 1.70 लाख करोड़ रुपये के प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज (पीएमजीकेपी) की घोषणा की थी। इसके तहत गरीबों को तीन महीने तक मुफ्त अनाज मिलता है।


   



अब नवंबर तक मिलेगा गरीबों को मुफ्त में अनाज, खर्च होंगे और 90 हजार करोड़


पीएम मोदी ने गरीब कल्याण अन्न योजना को छठ तक बढ़ाने की घोषणा की


80 करोड़ से ज्यादा लोगों को हर महीने पांच किलो गेहूं या चावल उपलब्ध कराया जाएगा


प्रोटीन को ध्यान में रखते हुए हर परिवार को एक महीने में एक किलो दाल भी मिलेगी


नई दिल्ली
अनलॉक के दूसरे चरण से ठीक पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को संबोधित किया। उन्होंने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का विस्तार नवंबर तक करने का ऐलान किया है। अन्न योजना की तारीख बढ़ाने के कारण 90 हजार करोड़ रुपये अलग से खर्च होंगे। पीएम मोदी ने कहा कि पहले तीन महीने (26मार्च को हुई घोषणा जिसमें तीन महीने तक राशन का वादा किया गया था) का बजट मिलाकर यह करीब 1.5 लाख करोड़ रुपये का हो जाता है। इसके तहत 80 करोड़ से ज्यादा लोगों को हर महीने पांच किलो गेहूं या चावल उपलब्ध कराया जाएगा। साथ में एक किलो चना एक परिवार को मिलेगा।
क्या है गरीब कल्याण अन्न योजना?
गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत देश के 80 करोड़ गरीब लोगों को हर महीने मुफ्त में 5 किलो गेहूं या चावल मिलेगा। प्रोटीन को ध्यान में रखते हुए एक किलो दाल भी मिलेगी।


26 मार्च को गरीब कल्याण पैकेज की घोषणा हुई थी
लॉकडाउन की घोषणा 25 मार्च को की गई थी। उसके अगले दिन 26 मार्च को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 1.70 लाख करोड़ रुपये के प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज (पीएमजीकेपी) की घोषणा की थी। इसके तहत गरीबों को तीन महीने तक मुफ्त अनाज और महिलाओं, बुजुर्गों, किसानों तथा अन्य को नकद सहायता उपलब्ध कराना शामिल था।

जनधन अकाउंट्स में आए 31 हजार करोड़

पीएम ने यह भी कहा कि गरीब कल्याण योजना के तहत पिछले तीन महीने में 20 करोड़ जनधन अकाउंट्स में 31 हजार करोड़ रुपये जमा किए गए हैं। इसके अलावा 9 करोड़ किसानों के खाते में 18 हजार करोड़ रुपये जमा किए गए हैं। किसानों को अप्रैल महीने में पीएम किसान योजना की इस साल की पहली किस्त (2000 रुपये) आई थी। दूसरी किस्त अगस्त के पहले सप्ताह से अकाउंट में आनी शुरू हो जाएगी।


वन नेशन वन राशन कार्ड की दिशा में आगे बढ़ने की अपील
पीएम ने राज्यों से वन नेशन वन राशन कार्ड की दिशा में आगे बढ़ने की अपील कि। उन्होंने कहा कि इससे सबसे ज्यादा फायदा उन मजदूरों को होगा को जो अपने शहर को छोड़ कर रोजगार की तलाश में दूसरे शहर में आते हैं। वर्तमान में उन्हें सस्ते राशन का फायदा नहीं मिल पाता है। वन नेशन वन राशन कार्ड शुरू होने के बाद वे कहीं भी इसका फायदा उठा सकते हैं।

टैक्सपेयर्स और किसानों का विशेष रूप से शुक्रिया
पीएम मोदी ने ईमानदार टैक्सपेयर्स और किसानों को विशेष रूप से शुक्रिय कहा। उन्होंने कहा कि टैक्सपेयर्स के पैसे से खजाना भरा और किसानों ने अनाज उगाए। उनकी मदद के कारण ही सरकार तमाम योजनाएं लागू करने में सक्षम हैं। उनके सहयोग के बिना सरकार कुछ नहीं कर सकती है।

Post a Comment

0 Comments